Thursday, 5 May 2016


वास्तु में घर के मुख्‍य द्वारा हेतु कुछ नियम, जिनके अनुसार यदि आप अपने घर का मुख्‍य द्वार बनवाते हैं तो आपके घर में सुख-समृद्धि का वास होता है।

  •  घर का मुख्‍य द्वार अन्य सभी दरवाजों से आकार में बड़ा होना चाहिए।
  • शुभ फल प्राप्ति हेतु पूर्व या उत्तर दिशा में मुख्‍य द्वार बनवाना चाहिए। 
  • मकान का मुख्‍य द्वार दक्षिण मुखी नहीं होना चाहिए। आपके पास अन्‍य विकल्‍प नहीं हैं, तो द्वार के ठीक सामने बड़ा सा दर्पण लगाएं , ताकि नकारात्‍मक ऊर्जा वापस लौट जाएं।
  •  घर का मुख्‍य द्वार हमेशा दो भागों में खुलने वाला ही बनवाएँ। वास्तु में ऐसे द्वार को शुभ माना गया है। 
  • घर के मुख्‍य द्वार के समीप तुलसी का पौधा लगाना वास्तु के अनुसार शुभ फलदायक होता है।